तेरी शुबह जो सुरत देखु तो दिन हमारा गुजरता है

तेरी शुबह जो सुरत देखु तो दिन हमारा गुजरता है,.....


देखो तो यह सुबह का मौसम कितना प्यारा लगता है,.....


तेरी मोहब्बत वाली बातें हमको सारी रात जग आती है,.....


तेरी पैरों की पायल वह हमको सारी रात सुनाती है,....


तेरी मोहब्बत ना मिले तो इन सांसों की ना चाहत है,....


तेरे बगैर यह दुनिया मैं मेरे अंधेरे की बस चाहत है...






टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मन मंदिर में तेरा सुरत हदय बसे है तेरा नाम

सुकुन मुझे नही आती है जब आप उदास

सब कहते हैं कि हम तुम्हारे साथ हैं